Welcome to the Official Website of Sarkari Job | Dear SarkariJob users always type .in after SarkariJob | Beware of Duplicate Websites | Visit Regularly for Updates.

Nai Shiksha Niti 2020 | Complete Details

Nai Shiksha Niti 2020

हेलो फ्रेंड्स
आज हम डिस्कस करेंगे बहुत ही महत्वपूर्ण टॉपिक
Nai Shiksha Niti 2020

Nai Shiksha Niti 2020 को हाल ही में 29 जुलाई 2020 को केंद्र सरकार द्वारा मंजूरी प्रदान की गई है और इसकी जानकारी नरेंद्र मोदी जो कि भारत के प्रधानमंत्री हैं। उन्होंने ट्विटर द्वारा दी और प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी जानकारी हमें ह्यूमन रिसोर्स डेवलपमेंट मिनिस्टर रमेश पोखरियाल उनके द्वारा दी गई।


Nai Shiksha Niti 2020 Kya Hai?


नेशनल एजुकेशन पॉलिसी (Nai Shiksha Niti 2020) को मंजूरी तो दे दी गई है, लेकिन इसे अभी संसद में पास किया जाना जरूरी है और यह संसद में आसानी से पास हो जाएगा तो हम इसे पास मानकर ही चलते है।  आज हम डिस्कस करने वाले हैं, 2020 में लाई गई है ये पुरानी शिक्षा नीति 1986 को Replace करेगी। ये नीति 34 वर्षों के बाद नई शिक्षा नीति लाई गई है। दोस्तो बहुत से Questions आपके दिमाग में आ रहे होंगे कि आखिर इस टॉपिक से Questions कैसे पूछे जाएंगे तो चलिए । शिक्षा व्यवस्था में समय-समय पर सुधार किया जाना बहुत ज्यादा जरूरी है। इसीलिए शिक्षा नीति में हाल ही में बदलाव किया गया है।


शिक्षा का अधिकार शिक्षा के अधिकार को डिस्कस करते हैं।


भारत में शिक्षा नीति पर जो सबसे महत्वपूर्ण सुधार अभी तक किया गया है। देखिए दोस्तो भारत के संविधान में 86 वा संविधान संशोधन अधिनियम 2002 में जोड़ा गया था और इस अधिनियम के तहत भारत के संविधान में एक आर्टिकल को ऐड किया गया और वह आर्टिकल 21A यहां पर important चीज को ध्यान दीजिएगा कि भारत के संविधान मै जो आर्टिकल 12 से 35 तक का जो क्षेत्र है वह दरअसल मौलिक अधिकारों का क्षेत्र है। इसे याद रखिएगा।  

भारत के संविधान के आर्टिकल 12 से 35 तक मौलिक अधिकार दिए गए हैं। इसी में शिक्षा के अधिकार को आर्टिकल 21A में शामिल किया गया है। यहीं से हम शिक्षा के महत्व को समझ सकते हैं। इस आर्टिकल के तहत राज्य नीति बनाकर 6 से 14 वर्ष तक के जो बालक हैं उनके लिए अनिवार्य निशुल्क शिक्षा की व्यवस्था करेगा। अर्थात 14 वर्ष तक के जो स्टूडेंट है, उनसे शिक्षा का पैसा नहीं लिया जाएगा। इस अधिकार को व्यावहारिक रूप देने के लिए बाद में संसद द्वारा एक अधिनियम पारित किया गया था। वह निशुल्क और अनिवार्य शिक्षा अधिनियम 2009


2009 में संसद द्वारा पारित कर दिया गया और देश में इसे 1 अप्रैल 2010 को लागू किया गया। यह जो कानून है इस कानून के तहत जो आठवीं तक के Students है उन्हें निशुल्क शिक्षा का अधिकार दे दिया गया। अब इसे बढ़ा कर 12 वीं तक किया जाएगा तो हमने शिक्षा के अधिकार कानून को सिंपल लैंग्वेज में डिस्कस किया। अब हम बात करते हैं, नई शिक्षा नीति 2020 के बारे में तो जो ये नई शिक्षा नीति 2020 में लाई गई है, यह स्वतंत्र भारत की तीसरी शिक्षा नीति है, इसे याद रखिएगा दोस्तों क्योंकि इसके पहले दो शिक्षा नीति देश में लागू की जा चुकी है। 


भारत की जो पहली शिक्षा नीति थी, वह किस वर्ष लागू हुई थी?


पहली शिक्षा नीति 1968 में देश में लागू की गई थी और दूसरी शिक्षा नीति 1986 में देश में लागू की गई थी और नई शिक्षा नीति हाल ही में 2020 में केंद्र सरकार द्वारा इसे मंजूरी प्रदान की गई है।

Nai Shiksha Niti 2020 में आखिरी Difference क्या है तो चलिए दोस्तो सबसे पहले इस महत्वपूर्ण टॉपिक पर डिस्कस कर लेते हैं। 1986 में जो पुरानी शिक्षा नीति लागू की गई थी उसमें केंद्र सरकार द्वारा शिक्षा के विकास पर GDP का मात्र 1.8% ही किया गया था जो कि बहुत कम है इसी कारण भारत अभी तक शिक्षा के मामले में विश्व के कई देशों से पिछड़ा हुआ था लेकिन देखिए जो नई शिक्षा नीति 2020 में लाई गई है इसमें केंद्र सरकार द्वारा शिक्षा के विकास पर GDP का 6% खर्च किया जाएगा यहां पर ध्यान दीजिएगा GDP का कितना प्रतिशत किया जाएगा 6 प्रतिशत।

पहले स्कूलों में जो शैक्षणिक मॉडल अपनाया जाता था वो 10+2 का था  लेकिन हाल ही में लाई गई Nai Shiksha Niti 2020 मै 5+3+3+4 शैक्षणिक मॉडल अपनाया जायगा अब आप सोच रहे होगे ये मॉडल क्या है। तो चलिए सबसे पहले हम इसी पर डिस्कस करते हैं। देखिए 1986 में जो शैक्षणिक मॉडल अपनाया गया था, 10+2 पर आधारित था। इसके अनुसार स्कूल के जो शुरू के 10 साल होते हैं जब स्टूडेंट की एज 6 से 16 साल तक की रहती है। तब स्कूलों में फॉर्मल एजुकेशन दिया जाता है और इसके बाद के जो 2 वर्ष होते हैं जब स्टूडेंट की एज 16 से 18 साल की रहती है। तब स्कूलों में Steam Education दिया जाता है। 


अब सवाल आता है कि ये Steam Education आखिर क्या है


जब हम 11th क्लास में जाते हैं तो हमें कोई भी एक subject चुज करने के लिए कहा जाता है। चाहे वह Arts चाहे commerce या Science हो तो अगर हमने आर्ट्स या कॉमर्स लिया तो हम साइंस नहीं पढ़ सकते। अगर हमने कॉमर्स ले लिया तो हम Arts या साइंस नहीं पढ़ सकते। यही Steam Education है।

हमरी एजुकेशन अभी तक 1986 की शिक्षा नीति के अनुसार देश में चल रही थी। इसके तहत जो शुरू के 5 साल होंगे वह Foundation Stage कहलाएगी यह 3 से 8 उम्र तक के जो छात्र हैं, उनके लिए होगी। इस उम्र में जो शिक्षा दी जाएगी वह Practical नॉलेज पर आधारित होगी। आगे आने वाले तीन वर्ष रहेंगे, जब स्टूडेंट की एज 9 से 11 साल रहती है। यह स्टेज प्रीप्रेटरी स्टेज कहेलाएगी ।

आगे आने वाले 3 वर्षों में जब स्टूडेंट की एज 12 से 14 साल की रहती है, इसे Middle Stage कहा जाएगा। इस स्टेज में 6th से 8th क्लास तक को शामिल किया गया। Middle Stage से ही स्कूलों में महत्वपूर्ण सब्जेक्ट को शामिल किया जाएगा। आगे आने वाले जो 4 वर्षीय होगे, जब Student की Age 15 से 18 साल की होती है इसे सेकेंडरी स्टेज कहेंगे। इस वक्त 9th से 12th क्लास को लिया गया है और 11th 12th क्लास में जो Steam Education पर होता था, इसे भी अब समाप्त कर दिया जाएगा।


अब नई शिक्षा नीति के कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं पर डिस्कस कर लेते हैं


तो देखिए जो Nai Shiksha Niti 2020 लाई गई है। उसमें 8 वर्ष तक की आयु के जो स्टूडेंट है उनके लिए जो राष्ट्रीय पाठ्यक्रम है, उसे तैयार करने की जिम्मेदारी दी गई NCERT को NCERT अब 8 वर्ष तक की आयु के जो स्टूडेंट है, मतलब जो फाउंडेशन स्टेज में है, इनके लिए कोर्स तैयार करेगा या शैक्षणिक ढांचे को तैयार करेगा।

नई शिक्षा नीति है उसके अनुसार जो 5th क्लास तक के जो छात्र हैं, उन्हें जो शिक्षा दी जाएगी वह मातृभाषा या स्थानीय भाषा या घरेलू भाषा में दी जाएगी। इसका मतलब यह कि स्टूडेंट अपनी कोई भी मनपसंद भाषा में स्टडी कर सकते हैं। इंग्लिश केवल एक सब्जेक्ट के रूप में शामिल किया जाएगा।

जो Nai Shiksha Niti 2020 है उसमें जो 6th क्लास है ही Computer Coding भी सिखाई जाएगी तथा इंटर्नशिप की भी फैसिलिटी दी जाएगी, जिससे छात्र अपनी हॉबी की चीजें संबंधित व्यक्ति से जाकर सीख सकता है। क्लास स्कूल जो है, वहां पर व्यावसायिक शिक्षा दी जाएगी। क्या होता है बहुत सारे स्टूडेंट ऐसे होते हैं जो किसी भी कारण से पढ़ाई को बीच में छोड़ देते हैं।

 Nai Shiksha Niti 2020 5+3+3+4

अब उन्हें बाहर जीवन जीने में ज्यादा कठिनाई का सामना न करना पड़े और सामाजिक जीवन जीने में कोई भी कठिनाई इसीलिए उन्हें पहले शिक्षा दे दी जाएगी ताकि वह बाहर जाकर कोई भी काम धंधा कर सके। इसके अलावा 9th से 12th क्लास तक सेमेस्टर सिस्टम लागू किया जाएगा। मतलब अब जो एग्जाम है वह साल में दो बार होगे और फाइनल में जो मार्कशीट तैयार होगी उसमें दोनो एग्जाम के मार्क्स को जोड़ा जाएगा। 

स्कूलों में Steam education अभी तक चलता आ रहा था। जो 1986 की एजुकेशन पॉलिसी है उसके हिसाब से, लेकिन अब उससे खत्म कर दिया जाएगा। अगर आप कॉलेजों की बात करें तो कॉलेज में जो Graduation पहले 3 साल का होता था, अब वह 3 साल और 4 साल दोनों में हो सकता है। अब जो पहले साल में रहेगा जो फर्स्ट ईयर में रहेगा। अगर फर्स्ट ईयर की एग्जाम क्लियर कर लेते सर्टिफिकेट दिया जाएगा। दूसरे साल में अगर एग्जाम क्लियर कर लेता है तो उसे डिप्लोमा दिया जाएगा।

इसी प्रकार अगर तीसरे साल में वह ग्रेजुएशन पूरा कर लेता है तो उसे फाइनल डिग्री दे दी जायगी, ओर अगर वो अगले साल तक कंटिन्यू करता है तो उसे डिग्री के साथ-साथ रिसर्च सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा। 


Nai Shiksha Niti 2020 – पहले क्या होता था?


पहले अगर कोई फर्स्ट ईयर में या सेकंड ईयर में आकर कॉलेज छोड़ देता था तो उसके पास कोई प्रमाण नहीं होता था कि उसने फर्स्ट ईयर या सेकंड ईयर पड़ा है, लेकिन अगर वह First Year में आकर छोड़ देता है तो उसे सर्टिफिकेट दे दिया जाएगा और अगर दूसरे Year में छोड़ देता है तो डिप्लोमा दे दिया जायगा और 3 साल मै डिग्री मिल जायगी 

जो बड़े-बड़े शिक्षा संस्था है जैसे IIT या ओर सब वहां पर संस्कृत को बढ़ावा देने के लिए इस एक सब्जेक्ट के रूप में भी शामिल किया जाएगा। जो Nai Shiksha Niti, उसके तहेत मास्टर ऑफ फिलॉसफी को खत्म कर दिया गया है। पहले क्या होता था पहले अगर आपको PhDs करनी होती थी तो PhDs से पहले आपको M.Phil (Master of Philosophy) करना होता था। अब इस व्यवस्था को समाप्त कर दिया गया है। 

Nai Shiksha Niti 2020 में इसके अलावा आने वाले जो 15 वर्ष है, उसमें कॉलेजों जो यूनिवर्सिटी से संबंध रहते हैं, उन्हें समाप्त कर दिया जाएगा। पहले क्या होता था? यूनिवर्सिटी से कॉलेजों को मान्यता लेनी पड़ती थी लेकिन अब ऐसा नहीं होगा क्योंकि क्या होता है कि जब कॉलेज यूनिवर्सिटी से अटैच होते हैं तो यूनिवर्सिटी का अधिकतर टाइम कॉलेजों की एग्जाम कंडक्ट करने में ही निकल जाता है। अब जब यूनिवर्सिटी कॉलेज की संबंध ख़तम है तो यूनिवर्सिटी भी रिसर्च प्रोग्राम पर अत्यधिक ज्ञान दे सकेगी या बहुत ज्यादा फोकस कर सकेगी


Nai Shiksha Niti 2020 या नए बदलाव आखिर कब से लागू होंगे


अब आपके दिमाग में एक सवाल आ रहा होंगा कि Nai Shiksha Niti 2020 या नए बदलाव आखिर कब से लागू होंगे तो दोस्तो अभी तो इसे केवल केंद्र ने मंजूरी दी है। अभी संसद में पास करवाया जाना बाकी है तो अभी तो पुरानी शिक्षा नीति ही लागू रहेगी। इसका पैटर्न अभी नहीं बदलेगा। संसद में पास किए जाने के बाद 2021 या 2022 तक ही Nai Shiksha Niti 2020 को शुरू किया जा सकेगा। ऐसा हमारा मानना है।

देखिए दोस्तों पुरानी शिक्षा नीति की जगह लेने में इसे लगभग एक दशक तक का समय लग जाएगा, मतलब देश में पूरी तरह लागू करने में 2030 तक का समय लग सकता है।

दोस्तों जो Nai Shiksha Niti 2020 है, वह देश में शिक्षा की पहुंच को हर व्यक्ति तक पहुंचाने का काम करेगी तो चलिए दोस्तो नई शिक्षा नीति 2020 से रिलेटेड कुछ Important Point डिस्कस कर लेते हैं 


  1. भारत की जो पहली शिक्षा नीति थी, वह किस वर्ष लागू हुई थी?

    सबसे पहली शिक्षा नीति 1968 में और जो दूसरी शिक्षा नीति है, वह लागू हुई थी 1986 में और इसे रिप्लेस करके अब जो नई शिक्षा नीति लाई गई है 2020 मै लाई गई है।

  2. भारत में जो शिक्षा का अधिकार था, इसे संविधान में किस संविधान संशोधन के तहत लागू किया गया था?

    2002 में और इसके तहत देश के जो भारत का संविधान है उसके आर्टिकल 21A में शिक्षा के अधिकार को शामिल किया गया जो कि मौलिक अधिकारों का अंग है। 

  3. निशुल्क और अनिवार्य शिक्षा अधिनियम जो 2009 है। वह देश में कब लागू हुआ था?

    1 अप्रैल 2010 अधिनियम के तहत ही आठवीं तक के जो छात्र हैं, उन्हें निशुल्क प्राथमिक शिक्षा का अधिकार दिया गया था। 

  4. नई शिक्षा नीति पर GDP का कितना प्रतिशत खर्च किया जाएगा?

    GDP का  6 प्रतिशत तक नई शिक्षा नीति पर खर्च किया जाएगा। 

  5. जो नई शिक्षा नीति 2020 लाई गई है, वह किस समिति की सिफारिश पर लाई गई है?

    नई शिक्षा नीति 2020 के कस्तूरीरंगन समिति की सिफारिश पर लाई गई है।


तो दोस्तो ये थी Nai Shiksha Niti 2020 के बारे मै संपूर्ण जानकारी आशा करते है आपको ये पोस्ट पसंद आया होगा। अगर आपको ये पोस्ट पसंद आया तो आप इसे अपने दोस्तो के साथ शेयर करे, ओर अगर आपके मन मै कोई सवाल हो तो नीचे comment करे। धन्यवाद्


Read More :: Bachelor of Fine Arts 2020: Full details



If any Link is not Working Please Comment Below, we will fix this. Thank You for Using SarkariJob.in

यदि कोई लिंक काम नहीं कर रहा है तो कृपया नीचे टिप्पणी करें, हम इसे ठीक कर देंगे। Sarkarijob.in का उपयोग करने के लिए धन्यवाद।

Share This


हमेशा  Google मैं Search करें  sarkarijob.in

Leave a Reply

We welcome your comments, questions, and additional information relating to this article. Your comments may take some time to appear. Please be aware that off-topic comments will be deleted.