Family ID: लाखो लोगो का फैमिली आईडी में मिला गलत डाटा, पटवारी और कानूनगो टीम घर पर जा कर करेगी पूछताश

हरियाणा प्रदेश में परिवार की अचल संपत्ति का पूरा ब्यौरा फैमिली आईडी के साथ जोड़ा जाएगा। इतना ही नहीं बल्कि गलत तरीके से सरकारी योजनाओं का लाभ लेने वाले लोगों के लिए सरकार के द्वारा ठोस कदम उठाया जाएगा।

हाल ही में विभाग के द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार बहुत सारे लोग सरकारी योजनाओं का गलत तरीके से फायदा उठा रहे हैं।

परिवार पहचान पत्र में कई बड़े बदलाव किए जाने के बाद अब शहर और गांव में रहने वाले परिवारों की अचल संपत्ति का विवरण परिवार पहचान पत्र में दर्ज होगा। इसके लिए सरकार के द्वारा बनाई गई खास टीम घर-घर जाकर संपत्ति का सर्वेक्षण करेगी।

30 जनवरी को जारी एक आंकड़ों के अनुसार सिरसा जिले के करीब 6 लाख से अधिक परिवारों को यूनिक आईडी नंबर यानि फैमिली आईडी नंबर जारी किया हुआ है। इसमें से सिर्फ दो लाख परिवारों की संपत्ति ही परिवार पहचान पत्र के साथ जुड़ी है।

जिसमें अधिकांश कर्मचारी व्यापारी है लेकिन जिले में चार लाख परिवार ऐसे हैं जिनकी अटल संपत्ति अब परिवार पहचान पत्र के साथ सर्वेक्षण की टीम के द्वारा जोड़ी जा रही है। यह टीम उनकी संपत्ति का पूरा ब्योरा करेगी और गलत तरीके से सरकारी योजनाओं का लाभ लेने वाले व्यक्तियों के खिलाफ ठोस कदम उठाएगी।

विभाग की ओर से उठाए गए नए कदम के अनुसार परिवार पहचान पत्र में राजस्व रिकॉर्ड के अनुसार अचल संपत्ति का विवरण जोड़ने में पटवारी और कानून को भी अहम भूमिका निभाएंगे पटवारी और कानून को की टीम को ही फील्ड सर्वे के लिए भेजा जाएगा जिसके लिए घर-घर जाकर उन्हें महत्वपूर्ण जानकारी जुटाना होगी।

पटवारी और कानून को सर्वेक्षण टीम का फोटो फैमिली आईडी मलिक के साथ खींचा जाएगा। सरकार के द्वारा हाल ही में बताया गया है कि बहुत सारे लोग गलत तरीके से इनकम सर्टिफिकेट और महत्वपूर्ण जानकारी को छुपा कर सरकारी योजनाओं का लाभ उठा रहे हैं।

Leave a Comment